ALL Old New
उद्यमी एवं अकादमिक हुए एमिटी एक्सलेंस अवार्ड से सम्मानित
February 19, 2020 • सुरेश चौरसिया

नोएडा। एमिटी विश्वविद्यालय में आयोजित त्रिदिवसीय 20वें अंर्तराष्ट्रीय व्यापार क्षितिज सम्मेलन ‘‘ इनबुश एरा 2020’’ में आज कार्यक्रम के द्वितीय दिन विभिन्न परिचर्चा सत्रों को आयोजन आई टू ब्लाक सभागार में किया गया। इन सम्मेलनों में विभिन्न दूतावासों के प्रतिनिधि, विदेश एंव देश के विश्वविद्यालय से आये अकादमिकों, उद्यमीयों एंव विशेषज्ञों ने अपने विचार रखें। कार्यक्रम के अंर्तगत अकादमिकों, उद्यमियों एंव विशेषज्ञों को एमिटी एक्सलेंस अवार्ड सम्मानित किया गया।

20वें अंर्तराष्ट्रीय व्यापार क्षितिज सम्मेलन के द्वितीय दिन प्रथम परिचर्चा सत्र ‘‘स्थिरता एंव परिवर्तन के विघटनकारी कारक’’ पर परिचर्चा सत्र का आयोजन किया गया जिसमें टाटा पावर के अध्यक्ष श्री आशीष खन्ना, पीवीआर सिनेमा की स्थिरता प्रमुख सुश्री संगीता राॅबिन्सन, हैवेल्स ंइडिया के अध्यक्ष श्री अनिल भसीन, गुडगांव की एचपी इंडिया के भारत एंव श्रीलंका की सस्टेनेबल इंपेक्ट लीड सुश्री उपासना चैधरी, आईआईटी गुवाहाटी के निदेशक प्रो टी जी सिथाराम ने अपने विचार रखे। इस परिचर्चा सत्र के संचालक एमिटी साइंस टेक्नोलाॅजी एंड इनोवेशन फांउडेशन के अध्यक्ष डा डब्लू सेल्वामूर्ती ने किया।

टाटा पावर के अध्यक्ष श्री आशीष खन्ना ने सत्र को संबोधित करते हुए कहा कि जलवायु परिवर्तन ने विश्व में कई देशों को प्रभावित किया है। वर्तमान समय में परिवहन एंव उर्जा उत्पादन इसके लिए प्रमुख रूप से जिम्मेदार है। वैश्विक रूप से हम वैकल्पिक उर्जा को अपना रहे है। स्न 2020 तक कोयला, तेल, परमाणु एंव हाइड्रो हमारे उर्जा के मुख्य स्त्रोत रहे है किंतु इसके उपरांत सौर उर्जा एंव वायु उर्जा के मुख्य स्त्रोत होगें। श्री खन्ना ने कहा कि स्न 2050 तक कोयला उर्जा उत्पादन में सबसे छोटा स्त्रोत होगा। आने वाले समय में 5 मिलियन इलेक्ट्रीक वाहन सड़को पर दिखाई देगें। अगर आप उर्जा के क्षेत्र स्थिरता चाहते है तो आपको जिम्मेदारी निभानी होगी।

पीवीआर सिनेमा की स्थिरता प्रमुख सुश्री संगीता राॅबिन्सन ने छात्रों को संबोधित करते हुए प्रबंधन चाहते थे कि सिनेमा को दिव्यांगों के लिए स्थिर बनाया जाये इसके लिए मूवी फाॅर ऑल - इंक्लुसिव एंटरटेनमेंट प्रांरभ किया गया। जिसमें तहत रोल होने वाले व्हीलचेयर, एक्सएल सिनेमा एप फिल्म विथ सबटाइटल आदि प्रारंभ किया गया।

हैवेल्स इंडिया के अध्यक्ष अनिल भसीन ने संबोधित करते हुए कहा कि सकरात्मक रवैया सदैव परिवर्तन लाता है। हम मोमबत्ती से बढ़कर लेड बल्ब तक आ गये है। जब आपको कोई समस्या होती है तब आप उसका निवारण खोजते है। पिछले कुछ दशकों में हरित क्रंाति, दुग्ध क्रांति, सूचना प्रौद्यो्िरगकी क्रांति हुई है वर्तमान समय तकनीकी क्रांति का है जो आपके विकास की स्थिरता को बढ़ाता है। उन्होनें कहा कि आने वाले पांच से दस सालों में होने वाले परिवर्तनों के लिए स्वंय को तैयार करें।

आईआईटी गुवाहाटी के निदेशक प्रो टी जी सिथाराम ने कहा कि हरित शोध एंव विकास में भविष्य निहित है जिसमेे आज के संस्थान एंव युवा हिस्सा ले रहे है। देश के अधिकतर भाग जल की कमी से जुझ रहे है जबकी वर्षा हर साल प्रर्याप्त मात्रा में होती है किंतु हम जल भंडारण के विषय में नही सोचते। स्थिरता लाने के लिए हमें भविष्य के संर्दभ में जागरूक होना होगा और अपनी जिम्मेदारियों को समझना होगा।
एमिटी साइंस टेक्नोलाॅजी एंड इनोवेशन फांउडेशन के अध्यक्ष डा डब्लू सेल्वामूर्ती ने अतिथियों को संबोधित करते हुए कहा कि स्थिरता में विकास निहित है और आज का परिवर्तन भविष्य, समाज एंव उद्योगों को स्थिरता प्रदान करेगा। पिछले कुछ समय से काफी विकास भी हुए हैं, किन्तु विकास की कीमत जलवायु परिवर्तन एंव ग्लोबल वार्मिंग नही होनी चाहिए और भविष्य को सुरक्षित रखने हेतु हमें आज से उसके संर्दभ में विचार करना होगा।

कार्यक्रम कें अंर्तगत एमिटी गु्रप वाइस चांसलर डा गुरिंदर सिंह द्वारा विभिन्नि अकादमिकों, उद्यमीयों को एमिटी एक्सलेंस अवार्ड से सम्मानित किया गया। जिसके अंर्तगत आईआईटी गुवाहाटी के निदेशक प्रो टी जी सिथाराम को एमिटी अकादमिक एक्सलेंस अवार्ड से, आईआईएम लखनउ के डीन प्रो संजय के सिंह को एमिटी एक्सलेंस अवार्ड फाॅर बेस्ट डीन से, काशीपुर के आईआईएम के प्रो कंपन मुखर्जी को एमिटी एक्सलेंस अवार्ड फाॅर बेस्ट प्रोफेसर इन एरिया आॅफ आपरेशन मैनेजमेंट से, नई दिल्ली के आईएमआई के प्रो दीपक टंडन को एमिटी एक्सलेंस अवार्ड फाॅर बेस्ट प्रोफेसर इन द एरिया ऑफ बैंकिंग एंड फाइनेंस से, पुणे के एनडीए के कर्नल ज्योतीरमाया सतपथी को एमिटी एक्सलेंस अवार्ड फाॅर बेस्ट फैकल्टी इन द एरियाऑफ डिसिजन न्यूरोसाइंसेस से सम्मानित किया गया। इस अवसर टाटा पावर के अध्यक्ष श्री आशीष खन्ना एंव हैवेल्स इंडिया के अध्यक्ष अनिल भसीन को एमिटी कोरपोरेट एक्सलेंस अवार्ड से सम्मानित किया गया।

20वें अंर्तराष्ट्रीय व्यापार क्षितिज सम्मेलन इनबुश एरा 2020 के अंर्तगत ‘‘महिला नेता परिवर्तन निर्माता के रूप में ’’ विषय पर महिला विशेष परिचर्चा सत्र का आयोजन किया गया जिसमें सड़क एंव परिवहन मंत्रालय की विशेष सचिव सुश्री लीला नदंन, टेडएक्स वक्ता सुश्री रत्ना वीरा, श्रीराम काॅलेज आॅफ कार्मस की इकोनाॅमिक प्रोफेसर डा स्मृती कौर, टेडशार्क लैब की निदेशिका सुश्री श्वेता शर्मा, व्यापारिक इंस्पायरेशनग गुरू सुश्री गीताजली पंडित, इंद्रप्रस्था अपोलो अस्पताल की पेंटेंट सर्विसेस की सुश्री राजलक्ष्मी, यूनिवर्सिअी ऑफ फाइनेंस  की वाइस रेक्टर प्रो ओल्गा इलायश ने अपने विचार रखा।