ALL Old New
टाइमलाइन का पालन न करने पर नोएडा सीईओ ने भूलेख विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को लगाया फटकार
March 5, 2020 • सुरेश चौरसिया

**  दो औद्योगिक व एक संस्थागत सेक्टर बनाने की मांग पर भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया तेज

नोएडा। किसानों की आबादी समस्या 5%, आबादी भूखंडों के आवंटन एवं धनराशि वितरण के लंबित प्रकरणों के निस्तारण हेतु आज नोएडा प्राधिकरण के सीईओ रितु महेश्वरी ने भूलेख विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों के साथ एक बैठक की। इस मौके पर सीईओ ने टाइमलाइन का पालन न करने पर अधिकारियों एवं कर्मचारियों को फटकार भी लगाया।
 गत दिनों सीईओ ने बदौली एवं मोरना के आबादी भूखंडों के निस्तारण किए जाने हेतु कमेटी को निर्देश जारी किया था, परंतु अभी तक उन्हें पत्रावली प्रस्तुत नहीं किया गया है। उन्हें 2 दिनों के भीतर इन ग्रामों की रिपोर्ट स्पार्ट की साफ फोटो सहित पत्रावली प्रस्तुत करने को कहा गया है।
 उधर किसानों द्वारा लगातार आबादी के प्रकरणों के निस्तारण की मांग की जा रही है। इस बाबत सीईओ ने 20 ग्रामों में सर्वे किए जाने का रोस्टर जारी किया है। इस संबंध में स्पष्ट कर दिया गया है कि सर्वे की रिपोर्ट तत्काल उन्हें दिए जाएं ताकि इस प्रकरण में कोई विलंब ना हो।
 साथ ही बैठक में यह भी निर्देश दिया कि प्रत्येक सप्ताह कमिटी की बैठक कर आबादी के प्रकरणों का निस्तारण कराया जाए तथा इसका भी एक रोस्टर बनाया जाए।
 5 ख एवं 5 ग के प्रकरणों में डीएम एवं शासन को जो पत्र भेजे जाने वाले हैं, उसे 1 सप्ताह में प्रेषित करने की बात कही गई। सीईओ ने साफ तौर पर कहा कि 5% आबादी भूखंड एवं धनराशि वितरण के जितने भी प्रकरण लंबित हैं, उसकी सूची बनाकर उनके सामने प्रस्तुत किया जाए तथा 15 दिनों के भीतर समस्त प्रकरणों का निस्तारण भी सुनिश्चित किया जाए। कोई भी प्रकरण भूलेख विभाग में लंबित न रखा जाए। 
नोएडा में औद्योगिक एवं संस्थागत भूमि के मांग के मद्देनजर भूलेख विभाग, नियोजन विभाग से समन्वय स्थापित कर दो औद्योगिक सेक्टर एवं एक संस्थागत सेक्टर में भूखंडों के आवंटन लाने हेतु मार्च माह में ही भूमि का अधिग्रहण करने पर बल दिया गया।
 भूमि के निस्तारण हेतु टाइमलाइन यह रहा:-