ALL Old New
संगीत की दुनियां की शान बनी शैफाली चौरसिया का हुआ गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज़
February 20, 2020 • सुरेश चौरसिया

**    संगीत की दुनियां की शान बनी शैफाली चौरसिया का हुआ गिनीज ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज

"खोल दे पंख मेरे, कहता है परिंदा, अभी और उड़ान बाकी है,
जमीं नहीं है मंजिल मेरी, अभी पूरा आसमान बाकी है,
लहरों की ख़ामोशी को समंदर की बेबसी मत समझ ऐ नादाँ,
जितनी गहराई अन्दर है, बाहर उतना तूफ़ान बाकी है…।"

 शैफाली चौरसिया वो शख्शियत हैं जिन्होंने लगातार संगीत के क्षेत्र में अपना व नगर का नाम रोशन करते चली  गईं हैं। अपना व नगर का नाम रोशन करने के साथ ही शैफाली चौरसिया  का नाम 24 जनवरी 2020 को गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज किया है.

 24 जनवरी को मुंबई के पाँच सितारा होटल में तुलिप स्टार पर बेब सीरीज द फारगाटन आर्मी का आयोजन किया गया, जिसके निर्देशक कबीर खान रहे . हॉलीवुड के मशहूर संगीतकार प्रीतम चक्रवर्ती ने इस बेब सीरीज के तीनों गानों को 1046 गायको संगीतकारों और वादकों ने प्रदर्शित किया।

संगीत थे आजादी के लिए , ए दिल बता, तेरी माटी से तीनों संगीत की प्रस्तुति में शैफाली चौरसिया मुख्य गायिका के रूप में रही, यह प्रदर्शन विश्व के इतिहास में पहली बार हुआ इसलिए इसे विश्व का सबसे बड़ा म्यूजिक बैंड होने के कारण द गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल किया गया.

इस कार्यक्रम में शैफाली चौरसिया मुख्य गायिका के रूप में रही जो कि नैनपुर जिला मंडला के गौरव की बात है. शैफाली चौरसिया ने अपना नाम तो रोशन किया ही है साथ में पिता संतोष चौरसिया सहित माता श्रीमति संध्या चौरसिया एवं भाई सौरभ, गौरव चौरसिया का नाम भी रोशन किया है। साथ ही वह चौरसिया समाज की एक बड़ी प्रतिभा के रूप में उभरी हैं। चौरसिया समाज को गर्व है, अपने समाज की ऐसी प्रतिभा पर। यह प्रेरणा है आगे बढ़ने, नाम रौशन करने की।