ALL Old New
संभवतः जब आप सो रहे होंगे, नए डीएम सुहास एलवाई ने तड़के 5.30 बजे संभाल ली जिले की कमान
March 31, 2020 • सुरेश चौरसिया

नोएडा। गौतमबुद्ध नगर के नए जिलाधिकारी सुहास एलवाई ने आज तड़के साढ़े 5 बजे सूरजपुर कलेक्ट्रेट पहुंच कर  कुर्सी संभाली ली है। यह भी नोएडा का एक इतिहास बन गया है कि नोएडा में इतने सवेरे किसी अधिकारी ने पद ग्रहण किया है। इतना ही नहीं जिलाधिकारी सुहास ने सुबह 6 बजे एडीएम प्रशासन, एडीएम वित्त, मुख्य विकास अधिकारी, एसडीएम, तहसीलदार आदि से कमरे में जिले का हाल भी जाना। इसके साथ ही नए जिलाधिकारी ने सुबह सभी आला अधिकारियों को बैठक के लिए बुलाया है।

प्लानिंग के तहत अब नए डीएम जनपद में  कोरोना वाइरस पर लगाम कसने की तैयारियां शुरू कर दी है। कोरोना संक्रमण फैलने से कैसे रोका जा सकता है, इसको लेकर विस्तृत प्लानिंग की जा रही है। इस बाबत उन्होंने अधिकारियों से चर्चा भी की है।

डीएम सुहास  ने शहरवासियों  को भरोसा दिया है  कि परेशान होने की जरूरत नहीं है। बचाव ही सावधानी है उन्होंने जनता से अपील करते हुए कहा कि घर पर रहें और सुरक्षित रहें उन्होंने कहा कि एसेंशियल कमोडिटीज को जिला प्रशासन की तरफ से सुनिश्चित किया जाएगा। गौतमबुद्ध नगर के नए जिलाधिकारी ने स्पष्ट किया कि जो भी कानून का उल्लंघन करेंगे, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। डीएम ने बताया कि सीजफायर कंपनी पर एफआईआर दर्ज की गई और सील करने के आदेश भी दे दिए गए हैं। यही वह सीजफायर कंपनी है जिस पर समय रहते ध्यान नहीं दिया गया और नोएडा में कोरोना का बड़ा  फैलाव हुआ। समय रहते इस पर ध्यान नहीं दिया गया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कल समीक्षा कर रहे थे तो जिला प्रशासन की बड़ी खामियां नजर आई और सीएम उग्र हुए और अधिकारियों को फटकारा भी। इतना ही नहीं, इसकी गाज जिलाधिकारी बीएन सिंह पर गिरी और उन्हें यहां से हटाकर उन पर जांच के आदेश भी दे दिए गए हैं। बीएन सिंह के कार्य प्रणाली पर शहरवासी लगातार प्रश्नचिन्ह उठाते जा रहे थे। उधर प्रशासन हलकों में बीएन सिंह को लेकर काफी आक्रोश था। अधिकारी उनके सामने जाने से कांपते थे और किसानों के बड़े-बड़े मसले सुलझाने में वे फिसड्डी साबित हुए थे। उनके कई तानाशाही फैसले से शहर में आक्रोश पनप रहा था।