ALL Old New
प्रधानमंत्री ने किसानों से मन की बात तो बता दी, लेकिन किसानों की बात आज तक सुनी ही नहीं गई ; परविंदर यादव
April 26, 2020 • सुरेश चौरसिया

नोएडा। आज देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के साथ मन की बात की। उन्होंने बताया की किसान भाई- बहनों की वजह से आज देश कोरोना से लड़ रहा है। जहां एक तरफ देश में लॉकडाउन है, ऐसी स्थिति में किसान अपनी जान की परवाह किए बिना देश को चलाने का कार्य कर रहा है।

इस बाबत प्रधानमंत्री की बातों पर भारतीय किसान संगठन के जिलाध्यक्ष परविंदर यादव ने कहा कि  प्रधानमंत्री ने अपने मन की बात तो किसानों को बता दी, लेकिन किसानों की मन की बात आज तक सुनी ही नहीं।

उन्होंने कहा, सरकार की तरफ से दिन- प्रतिदिन घोषणा तो होती है, लेकिन वह घोषणाएं सिर्फ और सिर्फ खोखला साबित होती रही है। इस लॉकडाउन के दौरान सरकार ने घोषणा की थी की किसानों का गेहूं क्रय केंद्र बनाकर पूर्ण रूप से ले लिया जाएगा, लेकिन अभी कोई क्रय केंद्र पूर्ण रूप से सेवा में कार्यरत नहीं हुआ है। ऐसे में किसान मुनाफे खोर बिचौलियों के पास जाकर अपना गेहूं बेचने के लिए मजबूर है। ऐसी संकट की घड़ी में किसान करे तो क्या करे। देश की तरफ देखे या अपने घर की तरफ देखे। फिर भी इस दुख की घड़ी में किसान ने प्राथमिकता अपने घर को न देकर देश को दी है। भारतीय किसान संगठन का माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आशा है की सिर्फ किसानों के मन की बात न कर  किसानों के मन की बात सुना भी करें।