ALL Old New
पीएमयूआई के 8 करोड़ लाभार्थियों को मिलेगा 3 मुफ्त सिलेंडर, प्रक्रिया तेज़
April 4, 2020 • सुरेश चौरसिया

नई दिल्ली। केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस एवं इस्पात मंत्री  धर्मेंद्र प्रधान ने शुक्रवार कोविड-19 और इस क्रम में लॉकडाउन के मद्देनजर जिलों में एलपीजी सिलिंडरों के वितरण का आकलन करने के लिए तेल विपणन कंपनियों (ओएमसी) के सैकड़ों जिला नोडल अधिकारियों (डीएनओ) के साथ संवाद किया। ये डीएनओ अपने-अपने क्षेत्रों में एलपीजी की डिलिवरी के लिए जवाबदेह हैं। इस वेबिनार में पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय में सचिव और मंत्रालय व सभी तीनों ओएमसी- आईओसीएल, बीपीसीएल, एचपीसीएल के वरिष्ठ अधिकारियों ने भी भाग लिया।

श्री प्रधान ने डीएनओ और उनकी टीमों के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि अचानक पैदा हुए इस संकट के दौर में कंपनियों की एलपीजी टीमें आगे आई हैं और कई बंदिशें व स्वास्थ्य के प्रति जोखिम के बावजूद सिलिंडरों की डिलिवरी की है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 संकट और राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के कारण सिलिंडरों की मांग तथा खपत बढ़ गई है। ओएमसी प्रतिदिन औसतन 50-60 सिलिंडरों की डिलिवरी कर रही हैं और कोविड-19 के खिलाफ देश भर में चल रही लड़ाई में अहम भूमिका निभा रही हैं। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि उन्हें पीएम गरीब कल्याण योजना के तहत अगले तीन महीने के दौरान पीएमयूवाई के 8 करोड़ से ज्यादा लाभार्थियों को 3 मुफ्त सिलिंडर उपलब्ध कराने चाहिए। उन्होंने कहा कि पहला मुफ्त सिलिंडर जारी करने के लिए एलपीजी वितरकों को अग्रिम धनराशि उपलब्ध कराई जा रही है और इस योजना को कुशलतापूर्वक लागू किया जाना चाहिए, जिससे इस मुश्किल दौर में समाज के गरीब तबके को परेशानी नहीं हो। मंत्री ने ओएमसी से प्रवासियों की मदद करने और उन्हें खाना उपलब्ध कराने का भी आह्वान किया। उन्होंने डीएनओ से स्वास्थ्य सावधानियों और सामाजिक दूरी को लेकर जनता और हितधारकों के बीच जागरूकता का प्रसार करने की अपील की। श्री प्रधान ने सभी हितधारकों को कोरोना संक्रमण के केंद्रों में परिचालन के दौरान सावधानी और सतर्कता बरतने की भी सलाह दी है।

डीएनओ ने बताया कि शुरुआती दिक्कतों के बाद हालात दुरुस्त होने शुरू हो गए हैं। सिलिंडर की आनन-फानन में बुकिंग बंद हो गई है, जैसा शुरुआत में देखने को मिला था। उन्होंने यह भी बताया कि सिलिंडर डिलिवरी की प्रतीक्षा अवधि में कमी आई है। उन्होंने कहा कि आपूर्ति चेन से जुड़े एलपीजी डिलिवरी ब्वॉय और अन्य को 5 लाख रुपये की विशेष अनुग्रह राशि की घोषणा से क्षेत्रीय स्तर पर तैनात कर्मचारियों के मनोबल में बढ़ोतरी हुई है। डीएनओ सरकार द्वारा पीएमयूवाई लाभार्थियों द्वारा घोषित राहत पैकेज का भी प्रचार कर रहे हैं।