ALL Old New
नोएडा पीआरवी ने दिल्ली से 760 किमी दूर दवा बहराईच पहुंचाई
April 21, 2020 • सुरेश चौरसिया

नोएडा। जनपद गौतमबुद्ध नगर कमिश्नरेट पुलिस द्वारा समय-समय पर कई बड़े सराहनीय कार्य संपादित किए जा रहे हैं। लॉकडाउन में सबसे बड़ी समस्या मरीजों के सामने है जो इस लॉकडाउन में दवाओं के लिए जूझ रहे हैं। इसमें कई दवाएं ऐसे हैं जो क्षेत्रीय स्थलों पर नहीं मिल पा रहे हैं। इसलिए मरीज लगातार पुलिस से गुहार लगा रहे हैं ताकि मरीजों के लिए सुदूर क्षेत्रों से दवाएं मिल सके। इसी कड़ी में गौतमबुद्ध नगर पुलिस ने बहराइच जाकर दवाइयां पहुंचाई है। इससे लोग कमिश्नरेट पुलिस को शाबाशी दे रहे हैं।

ट्विटर के माध्यम से एक शख्स ने पुलिस को सूचना दी कि मेरे दादा जी को दिल की गम्भीर बीमारी है जिनकी दवा दिल्ली से जाती है, जो खत्म हो गयी है। लाॅकाडउन के कारण उन्हे बहराइच नही पंहुचा पा रहे हैं। इस सूचना को संज्ञान मे लेते हुये डीसीपी साउथ दिल्ली ने डीसीपी ट्रेफिक गौतमबुद्धनगर को दवा भिजवाने हेतू उपलब्ध करायी गयी।

टीआई नोएडा ने एंबुलेेंस नम्बर एचआर 67 सी 4547 के द्वारा दवा लखनऊ भेजते हुये मीडिया सेल 112 को सूचित किया।  प्रातः समय 03ः00 बजे पीआरवी 0476 ने दवा को आलमबाग नहर के पास रिसीव कर पालिटेक्निक चौराहे पर पीआरवी 0501 तक पहुचायी। प्रातः 3ः50 बजे पीआरवी 501 व मीडिया सेल द्वारा श्रावस्ती जाने वाले इंजीनियर से बातचीत कर दवा बहराइच बार्डर पर देने हेतु दी गयी। समय 06ः30 बजे बहराइच बार्डर पर पीआरवी 1531 द्वारा दवा को प्राप्त कर पीआरवी 1536 थाना नानपारा को मटेरा चौराहे पर देकर पीआरवी 1556 थाना मोतीपुर के माध्यम से दवा को 80 किमी दूर ग्राम बेगमपुरा मतेहीकला मे काॅलर के बुजुर्ग पिता को उपलब्ध करायी गयी।

बता दें कि लॉकडाउन में पुलिस की जिम्मेदारी सबसे ज्यादा है, क्योंकि लोग अपनी समस्याओं के लिए पुलिस पर ज्यादा भरोसा कर रहे हैं और पुलिस द्वारा कई समस्याओं को सुलझाया भी जा रहा है।  देश में लॉकडाउन है तो लोग सुरक्षित घरों में रहना चाहते हैं। ऐसे में पुलिस को यह दायित्व निभाना पड़ रहा है।