ALL Old New
मुख्यमंत्री योगी ने 30 जून तक सार्वजनिक सभा करने पर लगाई रोक, हर जिले में फोकस टीम बनाने का निर्देश
April 25, 2020 • सुरेश चौरसिया

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने कड़े फैसले के लिए जाने जाते हैं। वे प्रदेश में कोविड-19 के बाबत लगातार फैसले पर फैसले लेते जा रहे हैं, ताकि प्रदेश वासी कोरोना वायरस महामारी में महफूज रह सकें।  वे लगातार अपनी कोर टीम के 11 सदस्यों से बातचीत कर रहे हैं और फौरन कार्रवाई करने का निर्देश जारी कर रहे हैं। आज उन्होंने अपनी कोर कमेटी की बैठक में स्पष्ट आदेश जारी कर दिया है कि उत्तर प्रदेश में 30 जून तक कहीं पर भी कोई सार्वजनिक सभा नहीं की जाएगी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोरोना वायरस संक्रमण पर अंकुश लगाने के प्रयास में अपनी कोर टीम के साथ  प्रतिदिन करीब एक घंटा तक बैठक करते हैं। इस बैठक में अभी तक की स्थिति के साथ अगली योजना पर चर्चा होती है। टीम 11 की  समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज अधिकारियों से कहा कि कोरोना का संक्रमण रोकने के लिए हर जिले में फोकस टीम बनाइए।  किसी भी सूरत में वायरस के संक्रमण का प्रसार नहीं होना चाहिए। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देशित किया है कि प्रदेश मे 30 जून तक किसी भी सार्वजनिक सभा की अनुमति नहीं दी जाए। इसके बाद भी स्थिति के आधार पर आगे का निर्णय लिया जाएगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि शेल्टर होम को लेकर इतनी तैयारी कर लें कि अगर 5 से 10 लाख लोगों को भी क्वारंटाइन करने की जरूरत पड़े तो बिना किसी दिक्कत के किया जा सके। उन्होंने हर जिले में स्वास्थ्य और पुलिस की टीम बनाकर लॉकडाउन को सफल बनाएं। उन्होंने  अधिकारियों से साफ कहा कि संक्रमण रोकने के लिए हर जिले में फोकस टीम बनाइए। किसी भी सूरत में वायरस के संक्रमण का प्रसार नहीं होना चाहिए।

मुख्यमंत्री कोरोना वायरस संक्रमण पर अंकुश लगाने के प्रयास में अपनी कोर टीम के साथ रोज करीब एक घंटा तक बैठक करते हैं। इस बैठक में अभी तक की स्थिति के साथ आने की योजना पर चर्चा होती है। टीम 11 की समीक्षा बैठक में संत कबीरनगर में एक ही परिवार के 18 सदस्य कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने कमिश्नर बस्ती आईजी बस्ती और एक मेडिकल ऑफिसर भेजने के निर्देश दिए हैं। यहां मगहर में एक पॉजिटिव केस आया है। योगी आदित्यनाथ ने सभी जिलाधिकारियों को निर्देशित किया कि क्वॉरेंटाइन सेंटर में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन होता रहे। वहीं टॉयलेट में भी साफ-सफाई का ध्यान रखा जाए। उन्होंने निर्देशित किया कि कोरोना योद्धाओं के लिए पीपीई किट्स एन-95 मास्क की उपलब्धता सुनिश्चित करें। उन्होंने स्पष्ट निर्देश दिया कि कार्यों में कोई ढिलाई न हो और तत्परता पूर्वक समय पर काम पूरा हो।