ALL Old New
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा , औद्योगिक इकाइयां मई माह में भी समय से वेतन दें
April 18, 2020 • सुरेश चौरसिया

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोविड-19 को लेकर कड़े एक्शन के मूड में हैं। वे लगातार कोशिश कर रहे हैं की ज्यादा से ज्यादा कोरोना पीड़ितों को राहत दी जाए।  वे लगातार प्रशासनिक अधिकारियों पर भी दवाब बना रहे हैं कि वह जरूरतमंदों को सेवाएं देने में कोई कोताही नहीं बरतें। मुख्यमंत्री ने पहले ही हिदायत दे चुके हैं की प्रदेश में एक भी व्यक्ति भूखा न रहे। इसके लिए उन्होंने प्रदेश के आला अधिकारियों पर भी जवाबदेही तय कर दी है। बावजूद आला अधिकारियों के खिलाफ अनेक मामले उनके टि्वटर अकाउंट पर आते जा रहे हैं।

आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने कार्यालय लोकभवन में कोर टीम के साथ बैठक की। इस बैठक में उन्होंने स्पष्ट निर्देश दिया कि सभी औद्योगिक इकाइयां अपने-अपने कर्मचारियों के वेतन का भुगतान कर दें। अगले महीने यानी मई में भी सभी को समय से वेतन दें।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज की बैठक में सभी अधिकारियों को श्रमिकों की समस्याओं का समाधान करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण लॉकडाउन के बाद श्रमिकों की समस्याओं को देखते हुए सरकार ने निजी क्षेत्र की औद्योगिक इकाइयों को अपने कर्मचारियों के वेतन के भुगतान का निर्देश दिया था। अब अधिकारी पता करें कि कहीं किसी इंडस्ट्री ने अपने कर्मियों का वेतन रोका तो नहीं है। सरकार के अनुरोध के बाद भी अगर किसी का भी वेतन रोका गया है तो फिर उस उद्योग अथवा फैक्ट्री मालिक को इस संकट की घड़ी में सरकार की प्राथमिकता से भी अवगत करा दें।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश की औद्योगिक इकाइयों में 512 करोड़ का भुगतान हो चुका है। इसके साथ ही प्रदेश के करीब 24 लाख श्रमिकों को 1000 की राहत राशि का भुगतान हो चुका है। अब बचे हुए अन्य लोगों को भी युद्ध स्तर पर राहत राशि देने के प्रक्रिया जारी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज कोरोना वायरस को लेकर वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की। इस बैठक में उन्होंने कोरोना वायरस से निपटने के लिए पूरे प्रदेश में किए जा रहे कार्यों का जायज़ा लिया।

 उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस के संवाहक के रूप में काम कर रहे तब्लीगी जमात के लोगों को पुलिस हर जगह से ढूंढ निकाले। छापा मारकर हर जगह पर इनके ठिकाने को खोजें और सभी को क्वारंटाइन करें। इसके साथ ही उनका आज भी की बैठक में फोकस हर वर्ग को भूख से ही बचाने पर रहा। उन्होंने कहा कि प्रदेश भर में कोई भूखा ना रहे। उन्होंने आज भी कम्युनिटी किचन के संचालन की समीक्षा की। इसके साथ ही उन्होंने प्रदेश में लॉक डाउन का सख्ती से पालन करने तथा उल्लंघन करने वालों पर सख्त से सख्त कार्रवाई करने का भी निर्देश दिया।