ALL Old New
लॉकडाउन पर लाचारों को सहयोग दे रही कमिश्नरेट पुलिस, मिल रही शाबाशियां
March 27, 2020 • सुरेश चौरसिया

नोएडा। पूरे देश में लॉकडाउन का बड़ा असर है। कितने ही लोग परेशान हैं, तो कितनों को अपनी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। इस बीच गौतमबुद्ध नगर कमिश्नरेट पुलिस द्वारा मानवोचित सराहनीय कार्य भी किए जा रहे हैं और वैसे फंसे हुए को उनके गंतव्य स्थानों तक पहुंचाया जा रहा है, इसमें खासकर महिलाएं शामिल हैं।

 एक बुजुर्ग महिला शारदा देवी  पत्नी सालीराम पिप्पल नि0 म0नं0 सी 506 सैक्टर बीटा 2  के पुत्र जो  कि  दिल्ली मे रहते हैं, उनके द्वारा दूरभाष से डीसीपी  ग्रे0नो0  राजेश कुमार सिंह को अपनी माता जी की बीमारी के सम्बन्ध मे अवगत कराया गया कि उसकी माता वृद्ध हैं, जो बीमार रहती हैं एंव वर्तमान में कई दिन से घर पर अकेली हैं, जिन्हें तत्काल दवाईयो की आवश्यकता है। उक्त सूचना पर डीसीपी  ग्रे0नो0  द्वारा  थाना प्रभारी बीटा-2 को  उक्त सूचना से अवगत कराया गया।  जिसपर थाना प्रभारी बीटा 2 टीम द्वारा वृद्ध महिला से जरिये दूरभाष दवाईयों के बारे मे जानकारी कर दवाईयों का इन्तजाम कर वृद्ध महिला के घर पर दवाईयों को पहुंचाया गया। थाना प्रभारी  बीटा 2 एंव उनकी टीम को वृद्ध महिला द्वारा अनेकों आशीष एंव वृद्धा के परिजन व अन्य जनमानस द्वारा भूरि-भूरि प्रशंसा की गयी।

तमन्ना बरेली में रहती हैं, उनके पति नोएडा में काम करते हैं. देश में लॉकडाउन हो गया. तमन्ना को प्रसव पीड़ा शुरू हो गई। नोएडा पुलिस ने उनके पति को बरेली पहुँचा दिया. तमन्ना इतनी भावुक हो गईं कि उन्होंने नोएडा के पुलिस अफ़सर रणविजय के नाम पर अपने बच्चे का नाम रखने की इच्छा जताई है।

  एक पी0जी0 मे रहने वाली युवती द्वारा दूरभाष थाना प्रभारी बीटा-2 को सूचना दी कि वह पी0जी0 मं0नं0 271 सैक्टर बीटा 1 में रह रही है। उसके साथ रहने वाली समस्त सहपाठी अपने निजी निवास चली गयी हैं। वह अकेली है एंव घबराहट महसूस कर रही है  एंव अपने परिजन जो म0नं0 सी 11/19 उमेश पार्क मोदीनगर गाजियाबाद  में रहते हैं उनके पास जाना चाहती थी।

इस सूचना पर थानाध्यक्ष बीटा 2 द्वारा छात्रा को प्राईवेट वाहन से का0 2628 सुमित व म0का0 2425 नीतू  द्वारा उनके परिजनो के पास मोदीनगर गाजियाबाद सकुशल पहुंचाया गया। इस कार्य की युवती व युवती के परिजनो व अन्य जनमानस द्वारा भूरि-भूरि प्रशंसा की गयी।

 गृह प्रवेश सोसाइटी सेक्टर 77 में रहने वाली प्रज्ञा ने कॉल की और बताया कि उन्हें इमरजेंसी है और उन्हें जयपुर जाना है। थाना सेक्टर 49 पुलिस द्वारा अपनी सरकारी गाड़ी से उनके कहे अनुसार उन्हें गुड़गांव बॉर्डर तक सकुशल भेजा गया। नोएडा पुलिस की इस कार्यवाही से सन्तुष्ट होकर प्रज्ञा  ने पुलिस को धन्यवाद किया।