ALL Old New
लॉकडाउन नियम को तोड़ने पर नोएडा में बड़ी कार्रवाई की तैयारी, रैपिड एक्शन फोर्स और यूपी पीएसी तैयार
March 30, 2020 • सुरेश चौरसिया

नोएडा। नोएडा में कोरोनावायरस के बढ़ते संकट को देखते हुए शासन की ओर से कड़ा रुख अपना लिया गया है। लॉक डाउन का  नियम पालन कम करने कारण जहां लोग नियम को तोड़ रहे हैं, वहीं नोएडा सहित राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र से बड़े पैमाने पर श्रमिकों का पलायन हुआ है। आज भी लॉक डाउन नियम को तोड़ने में लोग आगे आ रहे हैं। शहर के अलावे गांव में भी लॉक डाउन का असर नहीं दिखाई दे रहा है। लोग अपनी चला रहे हैं और सरकार के आदेश की धज्जियां उड़ा रहे हैं। तो दूसरी तरफ गौतम बुद्ध नगर में कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों की संख्या में ईजाफा होता जा रहा है। यही वजह है कि प्रशासन को इससे निपटने के लिए रैपिड एक्शन फोर्स और यूपी पीएसी को तैनात किया गया है।

बता दें कि नोएडा, ग्रेटर नोएडा समेत पूरे गौतमबुद्ध नगर में कोरोना का कहर तेजी से बढ़ रहा है। लॉकडाउन के बावजूद भी नोएडा के लोग घरों से बाहर निकलना बंद नहीं कर रहे हैं। इसको देखते हुए सरकार ने गौतमबुद्ध नगर में रैपिड एक्शन फोर्स और यूपी पीएसी की तैनात कर दिया है।

पुलिस कमिश्रर कार्यालय से मिली जानकारी के मुकाबिक एक बटालियन रैपिड एक्शन फोर्स और एक बटालियन पीएसी भेजी गई हैं। सोमवार से पुलिस, पीएसी और आरएएफ मिलकर लॉकडाउन का पालन करवाएंगे। गौतमबुद्ध नगर पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि जिले के हालात कोरोना वायरस को लेकर बिगड़ते जा रहे हैं। उत्तर प्रदेश के सबसे ज्यादा कोरोना वायरस के मरीज हमारे जिले में ही हैं।

दूसरी ओर लोगों को कोरोना से बचाने के लिए लॉकडाउन किया गया है। लेकिन तमाम अपील के बावजूद भी लोग समझने के लिए तैयार नहीं हैं। लिहाजा, सरकार ने अब सख्ती बरतनी का फैसला लिया है। 
बता दें कि रविवार को गौतमबुद्ध नगर के सभी रिहायशी क्षेत्रों में पुलिस ने लाउडस्पीकर पर ऐलान कर दिया है कि बिना वजह घरों से बाहर नहीं निकलें।

कोरोना वायरस (कोविड-19) के चलते देश में लॉकडाउन लागू है। लोगों को बेहद जरूरी आवश्यकताओं के लिए ही घरों से निकलने की इजाजत है। हालांकि कई शहरों में लोग इस लॉकाडाउन का पालन अच्छी तरह नहीं कर रहे हैं। लिहाजा प्रशासन को इस तरह की सख्ती बरतनी पड़ रही है।

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 12 बजे नोएडा आ रहे हैं। नोएडा में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की लगातार बढ़ रही संख्या से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ काफी चिंतित हैं। उन्होंने वहां की स्थिति का जायजा लेने और इलाज की मुकम्मल व्यवस्था करने के लिए रविवार को आनन-फानन में प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा डॉ. रजनीश दुबे को नोएडा भेज दिया है। मुख्यमंत्री सोमवार को खुद भी हालत की जानकारी करने के लिए नोएडा आ रहे हैं।