ALL Old New
कोविड-19 को मात देने के लिए जिम्स ने किया टीम का गठन, अन्य अस्पतालों के स्टाफों को करेगा प्रशिक्षित
April 29, 2020 • सुरेश चौरसिया

नोएडा।  गवर्नमेंट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज, ग्रेटर नोएडा के डाक्टर्स व पैरामेडिकल स्टाॅफ कोविड-19 संक्रमित मरीजों को सफल उपचार कि बाद डिस्चार्ज करने का सिलसिला अनवरत जारी था। लेकिन दिनांक 26 अप्रैल 2020 को राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान ने एकसाथ 8 कोविड-19 संक्रमित मरीजों को सफल उपचार के बाद डिस्चार्ज कर जिले ही नहीं पूरे प्रदेश में तहलका मचा दिया। जिसके फलस्वरूप संस्थान के निदेशक डा0 (ब्रिगे0) राकेश गुप्ता के अनुभव व नेतृत्व का लौहा मानकर ग्रेटर नोएडा औद्योगिक विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकरी व प्रभारी अधिकरी (कोविड-19) नरेन्द्र भूषण द्वारा संस्थान की प्रशंसा करते हुए डा0 (ब्रिगे0) राकेश गुप्ता के निर्देशन में मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार व मुख्य चिकित्साधिकारी, गौतमबुद्ध नगर के साथ कोविड-19 को मात देने के लिए एक टीम का गठन किया है।

यह टीम गौतमबुद्ध नगर के समस्त कोविड व नान-कोविड अस्पतालों के स्टाॅफ को प्रशिक्षित करेगी व उनका ऑडिट भी करेगी  जिसके क्रम में दिनांक 28 अप्रैल 2020 को राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान के सभागार में डा0 (ब्रिगे0) राकेश गुप्ता, मुख्य विकास अधिकारी  अनिल कुमार, संजय मिश्रा उप-जिलाधिकारी, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 वी0के0सिंह व डा0 वी0बी0ढाका व अन्य अधिकारियों व जिम्स के डाक्टर्स के साथ समस्त कोविड व नान-कोविड अस्पतालों के स्टाॅफ को प्रशिक्षित करने व उनके ऑडिट के सम्बंध में चर्चा हुई। जिम्स प्रशासन द्वारा जूम ऑन लाइन पोर्टल के माध्यम से समस्त कोविड व नान-कोविड अस्पतालों के स्टाॅफ को प्रशिक्षित के लिए रोस्टर बनाया गया जिसके तहत आज 29 अप्रैल 2020 को जिले के कई अस्पतालों व मेडिकल काॅलेजो/संस्थानों के प्रिंसीपल व चिकित्साधिकारियों को प्रशिक्षण की बारिकियों से अवगत कराया गया।

 राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान ने एकसाथ कोविड-19 संक्रमित 08 मरीजों को सफलतापूर्वक उपचार के बाद एकसाथ डिस्चार्ज कर रिकार्ड कायम किया था। गवर्नमेंट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज, ग्रेटर नोएडा के डाक्टर्स व पैरामेडिकल स्टाॅफ द्वारा मरीजों के साथ मिलकर कोविड-19 संक्रमण को परास्त करने का सिलसिला अभी भी जारी है। संस्थान के नोडल अधिकारी कोविड-19 डा0 सौरभ श्रीवास्तव व मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डा0 शिखा सेठ ने बताया कि दिनांक 27 अप्रैल 01 और मरीज डिस्चार्ज करने के बाद आज 29 अप्रैल को भी नोएडा निवासी एक और मरीज को डिस्चार्ज किया गया। डा0 (ब्रिगे0) राकेश गुप्ता ने जानकारी दी कि संस्थान में अब तक भर्ती 37 कोविड-19 के मरीजों में से 33 मरीजों को सफतलापूर्वक उपचार के उपरान्त डिस्चार्ज किया जा चुका है और साथ ही भरोसा दिलाया कि आगे भी संस्थान के अनुभवी डाक्टर्स व स्टाॅफ के सहायता से कोविड-19 संक्रमण को मात देते हुए मरीजों के विश्वास पर खरे उतरते हुए मरीजों का उपचार करते रहेंगे।