ALL Old New
कोरोना वायरस को हराने के लिए आज देश में एक अभूतपूर्व जंग लड़ेंगे लोग
March 22, 2020 • सुरेश चौरसिया

नई दिल्ली। कोरोना वायरस को लेकर आज देश में एक अभूतपूर्व जंग लड़ने के लिए लोग तैयार हैं। इस जंग में पूरा देश एक साथ है।  हर हाल में कोरोना को हराना है। कोरोना को आगे बढ़ने से रोकना है, उसे मत देना है;  क्योंकि दुनिया में इंसानी ताकत से बढ़कर कोई दूसरी ताकत नहीं है। आइए, प्रधानमंत्री मोदी जी के जनता कर्फ्यू के अपील पर हम उनका साथ देने के लिए आज पूरी ईमानदारी निष्ठा और कर्तव्य के जुट जाएं।

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कोरोना वायरस को लेकर 'जनता कर्फ्यू' की अपील करने के बाद देश में आज एक अभूतपूर्व बंद होगा। लोगों से आग्रह किया गया है वे स्वेच्छा से कोरोनो वायरस के प्रसार को रोकने के लिए घरों में ही रहें। अधिकतर राज्यों में आज सार्वजनिक परिवहन सेवा निलंबित कर दी गई हैं। आवश्यक वस्तुओं से जुड़ी दुकानों के अलावा अन्य सभी बाजार और दुकानें बंद रहेंगी। मुख्यमंत्रियों और अन्य नेताओं ने पार्टी लाइनों से ऊपर उठते हुए लोगों से सुबह 7 से रात 9 बजे तक जनता कर्फ्यू का पालन करने का आग्रह किया है। 

उन्होंने कहा कि संक्रमण की श्रृंखला को तोड़ने के लिए सामाजिक मेलजोल से दूरी बनाना जरूरी है क्योंकि कोरोना के मामले बढ़ गए हैं। शनिवार को देश में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या 315 पहुंच गई। यह एक दिन में सामने आये सबसे अधिक मामले हैं। महाराष्ट्र, ओडिशा और बिहार जैसे राज्यों ने महीने के अंत तक आंशिक बंदी लागू कर दी है। देश के किसी भी रेलवे स्टेशन से आधी रात से रविवार रात 10 बजे तक कोई भी पैसेंजर ट्रेन नहीं चलेगी, जबकि सभी उपनगरीय ट्रेन सेवाओं को न्यूनतम कर दिया जाएगा। दिल्ली सहित अन्य शहरों में मेट्रो सेवाएं दिनभर स्थगित रहेंगी।

पीएम मोदी ने गुरुवार को आह्वान किया था कि 22 मार्च को सुबह 7 बजे से 9 बजे के बीच 'जनता कर्फ्यू' का पालन करें। उन्होंने कहा था कि आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों को छोड़कर कोई भी नागरिक अपने घर से बाहर न निकले। उन्होंने कहा था कि यह कोरोना वायरस से निपटने के लिए भारत की तैयारी प्रदर्शित करने की एक परीक्षा होगी। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने इसे समय की जरूरत बताते हुए देश में सभी से इस कदम का समर्थन करने को कहा।

दिल्ली में, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि रविवार को 50 प्रतिशत बसें सड़कों पर चलेंगी, यह देखते हुए कि कुछ लोगों को आपातकाल के कारण यात्रा करनी पड़ सकती है। हालांकि, ऑटो और टैक्सी राष्ट्रीय राजधानी की सड़कों से दूर रहेंगी क्योंकि दिल्ली ऑटोरिक्शा संघ, दिल्ली प्रदेश टैक्सी यूनियन, दिल्ली ऑटो टैक्सी ट्रांसपोर्ट कांग्रेस यूनियन और दिल्ली टैक्सी टूरिस्ट ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन सहित कई यूनियन ने 'जनता कर्फ्यू में शामिल होने का फैसला किया है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य के लोगों से रविवार को घर के अंदर रहने की अपील की। मुख्यमंत्री की ओर से जारी एक बयान में कहा गया, "मेट्रो ट्रेनें, रोडवेज बसें और सिटी बसें रविवार को नहीं चलेंगी।" उन्होंने कहा, ''पूरे देश में कोरोना वायरस दूसरे चरण में है। अगर हम इस स्तर पर इसे रोकने में सफल रहे तो यह पूरी दुनिया को एक बड़ा संदेश देगा। इस संक्रमण पर अंकुश लगाने के लिए, हम युद्धस्तर पर काम कर रहे हैं। हर जिले और मेडिकल कॉलेज में पृथक वार्ड बनाए गए हैं। अब तक राज्य में 23 मरीजों की पहचान की गई है, जिनमें से नौ पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं। घबराने की जरूरत नहीं है, लेकिन इस चुनौती से लड़ने के लिए खुद को तैयार करें।”