ALL Old New
कोरोना वायरस के मद्देनजर वायुसेना स्टेशन हिंडन पर क्वारंटाइन सुविधा स्थापित
March 13, 2020 • सुरेश चौरसिया

 नई दिल्ली। दुनियाभर में बड़े पैमाने पर कोरोना वायरस के फैलने के कारण, चीन (वुहान) और ईरान जैसे देशों में मौजूद भारतीय नागरिकों को दो मौकों पर भारतीय वायु सेना के सी-17 विमान द्वारा निकाला गया। दूसरी बार, लद्दाख क्षेत्र के कुल 57 तीर्थयात्रियों को, जो तीर्थयात्रा के लिए ईरान के कुअम गए थे, को 10 मार्च 2020 को सी-17 विमान से एयर फोर्स स्टेशन हिंडन लाया गया। इनमें 33 महिलाएं, 2 बच्चे और 22 पुरुष शामिल थे।

इन तीर्थयात्रियों के लिए वायु सेना स्टेशन हिंडन पर एक क्वारंटाइन सुविधा स्थापित की गई है, जिसमें आराम करने और स्वास्थ्य लाभ के लिए सभी आवश्यक सुविधाएं मौजूद हैं। प्रशासनिक व्यवस्था (इमारतों की पहचान, इलाके की सुरक्षा, भोजन और पानी की आपूर्ति, बिस्तर, कपड़े धोना, देखभाल, मनोरंजन, सीवेज निस्तारण, परिवहन आदि) शिविर में की गई है और चिकित्सकीय सहायता (रोजाना जांच, प्रयोगशाला परीक्षण, संक्रमण मुक्त होने को लेकर सलाह और जैव-चिकित्सा अपशिष्ट प्रबंधन, सार्वजनिक स्वास्थ्य उपायों, रोग सूचक रोगियों का प्रबंधन, निगरानी, निकटतम अस्पताल में अलग वार्ड तैयार करना और भेजना) स्थानीय नागरिक प्रशासन के साथ मिलकर भारतीय वायु सेना के अधिकारियों द्वारा दी जा रही है। रोगियों के आने-जाने और करीब के सर्विस/सिविल अस्पतालों के निर्दिष्ट/पहचान किए गए अलग वार्ड में भेजने के लिए विस्तृत प्रोटोकॉल को तैयार रखा गया है।

कोविड-19 के संदिग्ध के क्वारंटाइन के लिए स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के अनिवार्य विस्तृत दिशानिर्देशों को लागू किया गया है। क्वारंटाइन की कुल अवधि 14 दिनों की है। भारतीय वायु सेना रक्षा सेवाओं के हिस्से के तौर पर स्थिति सामान्य होने तक नागरिक प्रशासन को सहयोग के लिए राहत के उपाय लगातार जारी रखेगी।