ALL Old New
कोरोना मामले को लेकर मैनपुरी जिला हुआ 24 घंटे के लिए सील
April 13, 2020 • सुरेश चौरसिया

रिपोर्ट : राजनारायण सिंग चौहान

मैनपुरी। आगरा में भगवान टाॅकीज स्थिति पारस हाॅस्पिटल में अब तक लगभग बीस लोगों को कोरोना पाॅजीटिव पाये जाने पर मैनपुरी से इलाज के लिए गये 17 लोगों की सूची जिला प्रशासन को मिलने पर जिला प्रशासन ने मैनपुरी जनपद को 24 घण्टे के लिए सील कर दिया है।

पारस हाॅस्पिटल में उपचारार्थ गये रोगियों के साथ उनके तीमारदारों के भी सैंपल लिए गये हैं। इस संबंध में जिलाधिकारी मैनपुरी महेन्द्र बहादुर सिहं ने जनपद के सभी चिकित्साधिकारियों व पुलिस अधीक्षक मैनपुरी द्वारा थानाध्यक्षों को निर्देशित किया गया है। पारस हाॅस्पिटल से प्राप्त लिस्ट के आधार पर उपचार के लिए गये रोगियों व उनके तीमारदारों के साथ अन्य जानकारियां भी मांगी गयी है।

जिलाधिकारी मैनपुरी ने ऐसे सभी लोगों को निर्देशित किया है कि यदि 22 मार्च से 6 अपै्रल तक कोई उपचार के लिए पारस हाॅस्पिटल गया हो तो ऐसे लोगों की सूचना तत्काल जिला प्रशासन व जिला चिकित्सालय को उपलब्ध करा दी जाये, ताकि ऐसे लोगों की जाॅच की जा सके।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पारस हाॅस्पिटल में उपचार के लिए गये थाना कोतवाली के ग्राम औडे़ण्य पड़रिया निवासी की 29 मार्च व थाना बरनाहाल के ग्राम कसौली निवासी की 10 अपै्रल को मृत्यु हो चुकी हैं। इसी क्रम में थाना करहल के ग्राम हविलिया निवासी भी एक युवक की भी 12 अपै्रल को मृत्यु हो  चुकी है। अब शेष बचे 14 लोगों का चिकित्सीय परीक्षण कराया जा रहा है। जिलाधिकारी मैनपुरी ने मैनपुरी जनपद के साथ नगरपालिका क्षेत्र में रहने वाले नगरवासियों से कहा है कि वे कल शाम तक अनिवार्य रूप से अपने घरों में रहे। जिला प्रशासन द्वारा कराये जा रहे सर्वे के अनुसार अग्रिम सूचना दी जायेगी।

किशनी में तीन संदिग्धों के घर पहुँची पुलिस व डाक्टरों की टीम
लॉकडाउन के कारण कोरोना की गति मंद जरूर पड़ी पर थमी नहीं है। पुलिस और प्रशासन की सख्ती के बाबजूद भी कोरोना अपने पांव पसारता जा रहा है। गौरतलब है कि आगरा के पारस हॉस्पिटल में इलाज कराके आये कई व्यक्तियों में कोरोना के लक्षण पाये गये हैं। प्रशासन ने सीएचसी किशनी को तीन नामों की सूची सौंपी है जो पारस अस्पताल से इलाज कराकर लौटे है। चिकित्सा अधीक्षक डा0 प्रदीप गुप्ता ने बताया कि तीन में से एक व्यक्ति ब्लड केंसर से पीडित है, उसका इलाज सैंफई में चल रहा है। एक महिला सूचना के बाद स्वयं ही सीएचसी आ रही है तीसरे व्यक्ति के घर डॉक्टर्स की टीम पुलिस के साथ प्रस्थान कर रही है। पूछताछ के बाद उन्हें भोगांव स्थित जवाहर नवोदय बिद्यालय में जांच के लिये ले जाया जायेगा। साथ ही पता किया जायेगा कि वह लोग और कितने लोगों के संपर्क में आये थे।

भोगांव में प्रशासन ने पारस हाॅस्पिटल से लौटे मरीजों का लिया सैम्पल
 आगरा के पारस हाॅस्पीटल में उपचार के लिये भर्ती रही एक महिला व उनके साथ गये उनके दो पुत्रों के सैम्पल लेने के लिये प्रशासन पूरे दिन कवायद में लगा रहा। प्रशासन की मदद से स्वास्थ्य विभाग ने भर्ती रही महिला व उसके बेटे के सैम्पल लियें हैं। उसके साथ रहे दूसरे बेटे की तलाश में पुलिस जुटी हुयी है।
ज्ञात हो कि 22 मार्च से 6 अप्रेल के बीच आगरा के भगवान टाकीज चैराहे पर स्थित पारस हाॅस्पीटल से जुड़े सभी लोंगो व वहां रहे मरीजों व स्टाफ के संपर्क में आने वालों की तलाश में आगरा प्रशासन जुटा हुआ है। प्रशासन के द्वारा की गयी जांच में थाना क्षेत्र के एक ग्राम निवासी एक महिला का इलाज पारस हाॅस्पीटल में चला था। वह 27 मार्च को नगर के मोहल्ला कबीरगंज स्थित अपने आवास पर बापस आयंी थी। जैसे ही इस बात की सूचना जिला प्रशासन को मिली। प्रशासन ने आनन फानन में महिला व उनके साथ तीमारदारी में रहे पुत्र का सैम्पल लेकर उन्हें आइसोलेशन में कर दिया गया है। जबकि उनके दूसरे बेटे के सैम्पल लेने के लिये स्वास्थ्य विभाग के साथ पुलिस विभाग तलाश मेें जुटा हुआ है। नगर मेंं कोरोना से सबंधित मामले को लेकर एसडीएम सुधीर कुमार व क्षेत्राधिकारी प्रयांक जैन ने चौकसी बढ़ा दी है।