ALL Old New
कोरोना के डर से सहमें हैं लोग, राहत की उम्मीदों पर फिर रहा पानी
May 7, 2020 • सुरेश चौरसिया

नई दिल्ली। कोरोना का कहर दुनिया में बढ़ता जा रहा है।भारत में भी कोरोना अब रफ्तार पकड़ रहा है । लोग दहशत में हैं, भयभीत हैं और कोरोना से आजाद होना चाहते हैं। लेकिन कोरोना के बढ़ती आंकड़े लोगों को डरा रहा है, लोगों का सुख- चैन छीन रहा है। लोगों को आने वाले दिनों के सुखद भविष्य पर भी ग्रहण लगता जा रहा है। कोरोना से ज्यादातर लोग निराशावादी हो रहे हैं। कल क्या होगा, इसकी चिंताएं उन्हें खाती जा रही है।

देश दुनिया में अबतक कोरोना का कोई विकल्प नहीं ढूंढा जा जा सका है। दावे प्रति दावे भी बड़े-बड़े किए जा रहे हैं लेकिन यथार्थ के धरातल पर अभी फिलवक्त वैसे ही चल रहा है। तो लोगों में हाहाकार है और इससे बचने के लिए छटपटाहट भी है। सरकार द्वारा बड़े-बड़े दावे किए जा रहे हैं बावजूद लोगों के भीतर राहत की उम्मीदें कम दिखाई दे रही है।

पिछले 3 दिनों में कोरोना संक्रमण बढ़ने की रफ्तार अब तक सबसे तेज रही है। सिर्फ 3 दिन में कोरोना वायरस के मामले 40 हजार से बढ़कर 50 हजार पार कर गए हैं। रविवार यानी 4 मई को देश में कोरोना वायरस के पॉजिटिव केसों की संख्या जहां 41 हजार थी, वहीं 6 मई को बढ़कर 50 हजार पार कर गया। कोरोना के इस प्रसार पर नजर डाले तो पाएंगे कि लगभग 11 दिनों के दौरान दोगुने आंकड़े आए हैं। कोरोना वायरस ने देश में सबसे ज्यादा महाराष्ट्र, गुजरात और दिल्ली को प्रभावित किया है। बुधवार को कोरोना के 3,490 नए मामले और 98 मौतें दर्ज की गईं, जिससे देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 52967 पहुंच गई और 1711 लोगों की मौत हो चुकी है। 

कोरोना वायरस के आंकड़ों पर नजर डालें तो बीते तीन दिनों में ही 10 हजार मामले दर्ज किए गए हैं। वहीं, 30 हजार से 40 हजार पहुंचने में पांच दिन का समय लगा था। कोरोना वायरस के 20 हजार से 30 हजार मामले में सात दिनों का समय लगा था। इसके अलावा, भारत को मार्च से शुरुआती 10 हजार का आंकड़ा छूने में करीब 43 दिनों का समय लगा था। बता दें कि सबसे पहले जनवरी में केरल में कोरोना का पहला मामला सामने आया था। 

इस तरह बढ़ता गया कोरोना का आंकड़ा
25 मार्च- 605 पॉजिटिव केस, 10 मौत
3 अप्रैल- 2547 पॉजिटिव केस, 62 मौत
4 अप्रैल- 3072 पॉजिटिव केस, 75 मौत
13 अप्रैल- 9352  पॉजिटिव केस, 324  मौत
14 अप्रैल- 10815 पॉजिटिव केस, 353 मौत
23 अप्रैल- 21700 पॉजिटिव केस, 686 मौत
24 अप्रैल- 23452  पॉजिटिव केस, 723 मौत
6 मई- 52991 पॉजिटिव केस, 1711 मौत।

महाराष्ट्र, गुजरात, दिल्ली, मध्य प्रदेश, राजस्थान, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश, पंजाब, तेलंगाना और पश्चिम बंगाल आदि ऐसे राज्य हैं, जहां एक हजार से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमितों की संख्या 16758 हो गई है और दस हजार के करीब मामले तो सिर्फ मुंबई में हैं। फिलवक्त स्थिति गंभीर ही है।