ALL Old New
जज़्बे को सलाम : आर्गेनिक खेती से भारी मुनाफ़ा कमा रहे हैं वीरेंद्र चौरसिया
March 17, 2020 • सुरेश चौरसिया

जज़्बे को सलाम :   आर्गेनिक  खेती कर टमाटर की भांति लाल हो रहे हैं वीरेंद्र चौरसिया
💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐

सूरज की तपन और बेमौसम बरसात को हमने हंस कर झेला है,
मुसीबतो के भरे दलदल में हमने अपनी ज़िंदगी को धंसा का ठेला है।
यूं ही नहीं कदम चुम रही है सफलता आज इस खुले आसमान तले,
ज़माने भर के नामो को पीछे छोड़ा है, जब जा कर हमारा नाम फैला है।।

 अगर जज्बा हो तो इंसान बहुत कुछ करने में कामयाब हो जाता है। जरूरत है दिल और दिमाग को खुला रखकर अपने लक्ष्य साधने की। जो ऐसा करने में आगे आते हैं, वह कामयाब जरूर होते हैं।

 हम बात कर रहे हैं महाराजगंज जिले के पुरंदरपुर थाना क्षेत्र के किसान वीरेंद्र चौरसिया की जिन्होंने आर्गेनिक की खेती कर प्रगति की राह बनाई है। नई तकनीक से खेती की विधि सीखने अब उनके पास देश के लोग पहुंच रहे हैं।

 पुरंदरपुर थाना क्षेत्र के ग्राम सभा मिठिया इंदु निवासी वीरेंद्र चौरसिया मात्र हाईस्कूल पास हैं। गांव के साथी उनको दिल्ली मुंबई जाकर कमाने का काफी सलाह दिया, लेकिन उन्होंने गांव में ही खेती कर आगे बढ़ने की जिद ठान ली।  सबसे पहले उन्होंने टमाटर की खेती शुरू की टमाटर की खेती से जो कुछ लाभ प्राप्त हुआ धीरे-धीरे वह अन्य सब्जियों के साथ स्ट्रॉबेरी की खेती करने लगे। आज उनके खेतों से बड़े पैमाने पर टमाटर उत्पादन हो रहा है। एक तरह से वह टमाटर की रंग में पैसों से लाल हो रहे हैं।

 वीरेंद्र चौरसिया बेहतर खेती के लिए महाराजगंज जिले में तीन बार और बरेली में एक बार सम्मानित हो चुके हैं। गोरखपुर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा भी उन्हें सम्मान मिल चुका है।

 वीरेंद्र चौरसिया के इस खेती को देखकर अन्य किसान भी इस तरह की खेती करने में आगे आ रहे हैं। इस ऑर्गेनिक खेती से बड़ा लाभ हो रहा है और स्वास्थ्य की दृष्टि से यह खेती उपज के साथ-साथ मुनाफा देने वाला भी है। वे टमाटर, खीरा, लौकी, करेला आदि आर्गेनिक खेती कर अच्छा पैसा कमा रहे हैं और उत्पादकता भी बढ़ा रहे हैं।

आर्गेनिक खेती के मास्टर आकाश चौरसिया की भांति ये भी चौरसिया समाज के स्टार हैं। कुछ इसी तरह पान की खेती में प्रयोग हो तो चौरसिया की पिछड़ापन दूर हो सकता है। आज आधुनिक युग में आधुनिक तरीके काम करने वाले अपने-अपने क्षेत्रों में कामयाब हैं।