ALL Old New
ग्रेनोग्रीन टीम ने बांटें बच्चों के लिए सूखा राशन सामग्री
May 20, 2020 • सुरेश चौरसिया

नोएडा।  कोरोनो वायरस लॉकडाउन के बीच झुग्गी में रहने वाले बच्चों को वितरित करने के लिए ग्रेनोग्रीन टीम जो कि एक गैर सरकारी संगठन है। गौतमबुद्ध नगर जिले में गत 35 दिनों से कमजोर वर्गों के परिवारों को मदद पहुंचा रही है। बड़ी संख्या में बच्चों को दूध नहीं मिल रहा है। कार्यकर्ताओं को डर है कि इससे कुपोषण हो सकता है। कई लोग अपने दैनिक मजदूरी को खोने के साथ, अपने बच्चों के लिए दूध या पूरक आहार खरीदने की स्थिति में नहीं हैं। ग्रेनोग्रीन टीम ने पाँच साल से कम उम्र के बच्चों को दूध वितरित करने के लिए हाथ बढाया हुआ है और अब तक 3000 से अधिक पैकेट वितरित कर चुके है।

ग्रेनोग्रीन फाउण्डेशन सूखा राशन , खाने के पैकेट तथा मास्क भी इन परिवारों को मुहैया कराते रहा है। एक माँ, ने कहा, "मेरे पति एक दिहाड़ी मजदूर हैं और मैं घरेलू काम करती हूँ। हमने अपनी रोज़गार की जरूरतों को पूरा करने के लिए अपनी नौकरी खो दी है और हमारे पास सीमित नकदी है। सरकार और अन्य राहत एजेंसियां ​​सूखा राशन किट प्रदान कर रही हैं। लेकिन हमारे बच्चों के लिए कोई दूध पाउडर या कोई अन्य पोषण पूरक नहीं है।

उन्होंने कहा कि इससे उनके बीच कुपोषण और स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हो सकती हैं। "बच्चों द्वारा आवश्यक वस्तु के रूप में दूध शायद अब तक राहत एजेंसियों द्वारा अनदेखा किया गया था, लेकिन *ग्रेनोग्रीन टीम* ने इस क्षेत्र में बच्चों के लिए दूध की व्यवस्था 14 अप्रैल से हीं किया हुआ है ," बस्तियों में बच्चों के लिए हर दिन आधा लीटर दूध देने का अभियान शुरू किया। दूध के लिए पैसा साथी भागीदारों द्वारा उठाया जा रहा है । गौतम जी ,सौरभ विकास , संवरजीत सिंह एवं टीम के और भी कई लोग इस कार्य के लिए काफी दिनों से प्रयासरत हैं । जरूरत मंद लोगों तक जरूरी आवश्यकता की पूर्ति के लिए ग्रेनोग्रीन फाउंडेशन अपने सभी प्रयास में सफल हों ऐसी हमारी प्रार्थना है।