ALL Old New
एमिटी में दो दिवसीय अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन एसपीआईएन 2020 का आयोजन
February 27, 2020 • सुरेश चौरसिया

नोएडा। एमिटी विश्वविद्यालय में 7वें सिग्नल प्रोसेसिंग एंड इंटिग्रेटेड नेटर्वक पर दो दिवसीय अंर्तराष्ट्रीय सम्मेलन ‘‘एसपीआईएन 2020’’ का आयोजन किया गया। इस सम्मेलन का शुभारंभ स्वीडन के यूनिवर्सिटी ऑफ गवले के रणनितिक विकास के कुलपति प्रो माग्नस इसाकसन, यूके के सैलफोर्ड विश्वविद्यालय के प्रो सुनिल वडेरा, एमिटी सांइस टेक्नोलाॅजी एंड इनोवेशन फांउडेशन के अध्यक्ष डा डब्लू सेल्वामूर्ती, एमिटी लाॅ स्कूल के चेयरमैन डा डी के बंद्योपाध्याय, एमिटी स्कूल ऑफ इंजिनियरिंग एंड टेक्नोलाॅजी के संयुक्त निदेशक डा अभय बंसल एंव डा मनोज कुमार पांडेय ने पांरपरिक दीप जलाकर किया।

इस अंर्तराष्ट्रीय सम्मेलन ‘‘एसपीआईएन 2020’’ के अंर्तगत आज स्वीडन के यूनिवर्सिटी आॅफ गवले के रणनितिक विकास के कुलपति प्रो माग्नस इसाकसन, यूके के सैलफोर्ड विश्वविद्यालय के प्रो सुनिल वडेरा को एमिटी सांइस टेक्नोलाॅजी एंड इनोवेशन फांउडेशन के अध्यक्ष डा डब्लू सेल्वामूर्ती द्वारा प्रोफेसरशिप की मानद उपाधि से सम्मानित किया गया।

स्वीडन के यूनिवर्सिटी ऑफ गवले के रणनितिक विकास के कुलपति प्रो माग्नस इसाकसन ने प्रोफसरशिप की मानद उपाधि से सम्मानित किये जाने पर धन्यवाद देते हुए कहा कि मै एमिटी प्रबंधन सहित यहां उपस्थित सभी शिक्षकों एंव छात्रों को धन्यवाद देता हूं। मुझे आशा है कि हम भविष्य में सिग्नल प्रोसेसिंग एंड इंटिग्रेटेड नेटर्वक के विभिन्न क्षेत्रों पर मिलकर कार्य करने के अवसरों को प्राप्त करेगें। आने वाले समय में सिग्नल प्रोसेसिंग एंड इंटिग्रेटेड नेटर्वक के क्षेत्र में संयुक्त शोध एंव मिलकर कार्य करने का है तभी हम सभी अपने लक्ष्य को पा सकेगें। उन्होनें कहा कि छात्रों हेतु सिग्नल प्रोसेसिंग एंड इंटिग्रेटेड नेटर्वक में शोध एंव नवोन्मेष के अवसर उपलब्ध है इसका लाभ उठायें।

यूके के सैलफोर्ड विश्वविद्यालय के प्रो सुनिल वडेरा ने कहा कि पिछले कई वर्षो से एमिटी स्कूल ऑफ इंजिनियिरिंग एंड टेक्नोलाॅजी द्वारा आयोजित इस अंर्तराष्ट्रीय सम्मेलन एसपीआईएन में हिस्सा ले रहा हूं और एमिटी की मेहमाननवाजी से अभिभूत हूं । प्रो वडेरा ने कहा कि एमिटी ने प्रोफेसरशिप की मानद उपाधि से उनका एंव उनके विश्वविद्यालय का मान बढ़ाया है। इस सम्मेलन का सबसे महत्वपूर्ण भाग छात्रों से रूबरू होना है जिससे हमें छात्रों से काफी कुछ सीखने के लिए मिलता है। प्रो वडेरा ने कहा कि हम और एमिटी एक ही मूल्यों का निर्वहन करते है। उन्होनें कहा कि सिग्नल प्रोसेसिंग एंड इंटिग्रेटेड नेटर्वक सहित आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, मशीन लर्निंग ने लोगों को प्रभावित किया है।

एमिटी सांइस टेक्नोलाॅजी एंड इनोवेशन फांउडेशन के अध्यक्ष डा डब्लू सेल्वामूर्ती ने अतिथियों को संबोधित करते हुए कहा कि पिछले कुछ वर्षो में सिग्नल प्रोसेसिंग एंड इंटिग्रेटेड नेटर्वक के क्षेत्र से जुड़े लघु, मध्यम एंव बृहद उद्योगों की संख्या में इजाफा हुआ है। एमिटी विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित इस सम्मेलन का उददेश्य अकादमिकों, शोधार्थियों, उद्यमियों को अपने विचार रखने का एक मंच प्रदान करना है। इस सम्मेलन से छात्रों के लिए सिग्नल प्रोसेसिंग एंड इंटिग्रेटेड नेटर्वक के क्षेत्र में हो रहे नये अवसरों की जानकारी होगी।

एमिटी स्कूल ऑफ इंजिनियरिंग एंड टेक्नोलाॅजी के संयुक्त निदेशक डा मनोज कुमार पांडेय ने 7वें सिग्नल प्रोसेसिंग एंड इंटिग्रेटेड नेटर्वक पर दो दिवसीय अंर्तराष्ट्रीय सम्मेलन ‘‘एसपीआईएन 2020’’ के संर्दभ में जानकारी प्रदान करते हुए कहा इस सम्मेलन में लगभग 223 शोध पत्र प्रस्तुत किये जायेगें और विश्व के विभिन्न देशों जैसे जर्मनी, कजाकिस्तान, चीन, स्पेन, सिंगापुर, हांगकांग, इजिप्त, यूएसए, आदि से लगभग 27 विदेशी वक्ता प्रस्तुती देगें। इस सम्मेलन से छात्रों को अवश्य लाभ होगा।

तकनीकी सत्र के अंर्तगत पुर्तगाल के कोयबरा विश्वविद्यालय के डा अल्वारो रोजा ने टेलीमेडिसिन इन मैचुरिटी माॅडल पर, जापान के टोक्यो विश्वविद्यालय के डा टेरूआकी हयाशी ने डाटा एक्सचेंज एंड डिजाइन ऑफ डाटा फाॅर एनहासिंग क्रास पर अपने विचार रखे। यूएसए के सैन जोस स्टेट विश्वविद्यालय के प्रो ले थुये ने कंप्यूटनशनल इलेक्ट्रोमैग्नेटिक सत्र की अध्यक्षता की। इसके अतिरिक्त विभिन्न तकनीकी सत्रों देश के आइआईटी, एनआईटी आदि सहित कई विशेषज्ञों ने अपने विचार व्यक्त किये