ALL Old New
दिल्ली के निजामुद्दीन से पैदल चलकर गौतमबुद्ध नगर सीमा पार करने की कोशिश में पकड़ी गई एक महिला
April 12, 2020 • सुरेश चौरसिया

नोएडा।  कोरोना की जंग में कुछ लोग शामिल होना नहीं चाह रहे हैं, जबकि आज भी बड़े पैमाने पर लोग अपने काम -धंधे, रोजगार, बिज़नस, खेती -बाड़ी आदि को छोड़कर अपने घरों में सुरक्षित रह रहे हैं, ताकि कोरोना को मात दिया जा सके। ऐसे में सवाल उठना लाजिमी है कि ऐसे ही कुछ लोग कोरोना जैसे महामारी को मजाक बना रहे हैं और स्वयं के खतरे को दूसरे के लिए खतरे पर बना रहे हैं।

एक ऐसा ही मामला थाना जारचा की है जहां एक महिला ने दिल्ली के निजामुद्दीन से खेतों के रास्ते पैदल ही चलकर गौतमबुद्ध नगर की  सीमा को लांघ कर पार करना चाह रही थी। संजोग ही था की पुलिस को इस बाबत सूचना मिल गई और उसे कोरंटाइन के लिए ले जाया गया है।

बता दें कि वह 45 वर्षीय महिला दिल्ली के निजामुद्दीन से पैदल ही बिजनौर जा रही रही थी। वह एनटीपीसी क्षेत्र के ऊंचा अमीरपुर गांव के पास हापुड़ जनपद की ओर बॉर्डर क्रॉस करने का प्रयास कर रही थी।

पुलिस के पूछताछ के क्रम में महिला का लिंक निजामुद्दीन से मिलने के बाद पुलिस के हाथ-पांव फूल गए तथा त्वरित इस मामले की सूचना स्वास्थ्य विभाग को दी। स्वास्थ्य विभाग की टीम महिला को क्वारंटीन सेंटर में भर्ती कराने के लिए मौके पर पहुंची। वहीं दूसरी और महिला के यहां तक पहुंचने के बाद जिले की सीमाओं को सील किए जाने के दावों को लेकर भी सवाल खड़े हो गये  हैं।

उल्लेखनीय है कि जारचा कोतवाली के एनटीपीसी चौकी क्षेत्र में पड़ने वाला ऊंचा अमीरपुर गौतमबुद्ध नगर जिले का अन्तिम सीमा है। इस सीमा के बाद हापुड़ जनपद की सीमा शुरू हो जाती है।  पुलिसकर्मियों ने महिला से पूछताछ की तो पता चला कि महिला एक समुदाय विशेष से ताल्लुक रखती है और बिजनौर के किराडपुर स्थित रेवती मौहल्ले की रहने वाली है। महिला ने पुलिस को पूछताछ के दौरान पहले बताया कि वह दिल्ली किसी होटल में काम करती है। लेकिन उसके पहनावे को देख पुलिस को शक हुआ। जिसके बाद महिला से सख्ती से पूछताछ की गई तो उसने बताया कि वह दिल्ली निजामुद्दीन दरगाह पर बैठकर भीख मांगती है। जहां से वह गुरूवार को सुबह ही पैदल अपने घर बिजनौर के लिए निकली थी। इसी बीच में वह खेतों के रास्ते पुलिस से छिपते हुए यहां तक पहुंची है।

 जारचा कोतवाली प्रभारी अनिल कुमार के मुताबिक महिला को चेकिंग के दौरान रोका गया था। जिससे पूछताछ के दौरान पता चला कि वो निजामुद्दीन से पैदल चलकर बिजनौर के लिए जा रही थी। स्वास्थ्य विभाग की टीम उसे क्वारंटीन के लिए ले गई है। वहीं दादरी सीएचसी प्रभारी डॉ अमित चौधरी ने बताया कि पुलिस के द्वारा महिला के पकड़े जाने की सूचना मिली थी, जिसके बाद महिला को क्वारंटीन वार्ड में भर्ती कराने के लिए ले जाया गया है।