ALL Old New
दिल्ली जल रहा, राजनीतिक लोग रोटी सेंक रहे
February 25, 2020 • सुरेश चौरसिया

नई दिल्ली। दुनिया में भारत घटिया राजनीति का शिकार है। लोकतंत्र के नाम पर यहां अपराधियों, गुंडों, बदमाशों आतंकवादियों, देश द्रोहियों तक की भी हिमाकत करने वाले भरे पड़े हैं। सरकार, न्यायपालिका पर से जनता का विश्वास जा रहा है। जनता भाग्य भरोसे जीने मरने को आदि बन गए हैं। दिल्ली जल रहा है, टीवी वाले मशाले लगा रहे हैं। विपक्षी आग सेंक रहा है। सरकार कुम्भकर्णी नींद सो रही है। लोग आज कल का कयास लगा रहे हैं। लेकिन हश्र आज सामने है।

उत्तर पूर्वी दिल्ली में सीएए और एनआरसी को लेकर भड़की हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही है। तीसरे दिन भी मौजपुर-बाबरपुर इलाके में सुबह पथराव हुआ है। मिली जानकारी के अनुसार ,इस इलाके में हालात अभी पूरी तरह तनावपूर्ण बने हुए हैं। उत्तर पूर्वी दिल्ली में एक महीने के लिए धारा 144 लगा दी गई है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और आप नेता राजघाट पहुंचकर दिल्ली में शांति के लिए प्रार्थना की।

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने राजघाट पर प्रेस से बात करते हुए कहा कि पिछले दो दिनों में दिल्ली में हुई हिंसा से पूरा देश चिंतित है। जान और माल की हानि हुई है। यदि हिंसा बढ़ती है तो यह सभी को प्रभावित करेगी। हम सभी यहां गांधी जी को अपनी प्रार्थना अर्पित करने के लिए हैं जो अहिंसा के अनुयाई थे।

- जीटीबी अस्पताल के अनुसार उत्तर पूर्वी दिल्ली के विभिन्न इलाकों में हुई हिंसा में अब तक 9 लोगों की मौत हो चुकी है। 130 घायल।

- गोकुलपुरी हिंसा में शहीद दिल्ली पुलिस के हेड कॉन्स्टेबल रतनलाल को किंग्सवे कैंप के पुलिस लाइन में दी जा रही है आखिरी सलामी। रतनलाल की कल मौत हो गई थी। वह राजस्थान के सीकर में तिहावली गांव के रहने वाले थे।

- गृहमंत्रालय की बैठक अब खत्म हो गई है। इसके बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आज सभी दलों के सदस्यों की बैठक गृहमंत्रालय में हुई है। गृह मंत्री ने आज बैठक बुलाई थी, यह सकारात्मक थी। यह निर्णय लिया गया कि सभी राजनीतिक दल यह सुनिश्चित करेंगे कि शहर में शांति आए।

-दिल्ली हिंसा पर गृह मंत्रालय की बैठक प्रारंंभ हो गई है। इस बैठक में गृह मंत्री अमित शाह, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उपराज्यपाल अनिल बैजल, पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक समेत कई अफसर मौजूद हैं। इस बैठक में सीएम अरविंद केजरीवाल, कांग्रेस पार्टी के नेता सुभाष चोपड़ा और बीजेपी नेता मनोज तिवारी समेत कई दलों के नेता मौजूद हैं।

सूत्रों की माने तो मौजपुर इलाके में रात भर दुकानों में तोड़फोड़ और लूटपाट की गई है और उस इलाके से गुजरते हुए लोगों के साथ मारपीट की घटना भी सामने आई है। नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन और विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों के बीच भड़की हिंसा में एक पुलिसकर्मी सहित सात लोगों की मौत हो चुकी है। करीब 100 लोग घायल हुए हैं।

फायर ब्रिगेड को भजनपुरा इलाके से अब तक 45 आगजनी की कॉल आ चुकी हैं। एक फायर ब्रिगेड की गाड़ी पर भी पथराव किया गया है जबकि एक गाड़ी में आग भी लगा दी गई है जिसके कारण तीन फायर कर्मी घायल भी हुए हैं। जाफराबाद में हिंसा के बाद तनाव को देखते हुए रैपिड एक्शन फोर्स की टुकड़ी तैनात की गई है। साथ ही मौजपुर और बाबरपुर इलाके में भी भारी संख्या में अर्धसैनिक बल तैनात है।

हिताहतन जाफराबाद, मौजपुर-बाबरपुर, गोकुलपुरी, जौहरी एन्क्लेव और शिव विहार मेट्रो स्टेशन को बंद कर दिया गया है। पूरे इलाके में धारा 144 लागू कर दी गई है। इसके साथ ही नॉर्थ ईस्ट दिल्ली के सभी स्कूल आज बंद रहेंगे।