ALL Old New
डीएम के बाद सीएमओ भी नपे, मुख्यमंत्री के कोपभाजन बन गए अनुराग भार्गव
April 2, 2020 • सुरेश चौरसिया

 नोएडा। नोएडा में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जब समीक्षा करने के लिए आए थे तो सब कुछ ठीक-ठाक लग रहा था पर समीक्षा के दौरान जो बातें हुई वह ठीक नहीं हुआ और तत्काल डीएम बीएन सिंह पर बड़ी कार्रवाई हुई और जैसा लग रहा था वैसे ही सीएमओ डॉक्टर अनुराग भार्गव को भी गौतम बुध नगर से बोरिया बस्तर बांधकर जाना ही पड़ा।

जिले में कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का गुस्सा अभी ठंड़ा नहीं पड़ा है। यही वजह है कि डीएम बीएन सिंह के बाद बुधवार को सीएमओ डॉ॰ अनुराग भार्गव के खिलाफ भी शासन से बड़ी कार्रवाई की गई है। शासन ने उनके समस्त वित्तीय अधिकार छीन लिए हैं। वहीं संयुक्त निदेशक परिवार कल्याण महानिदेशालय डॉ॰ ए॰पी॰ चतुर्वेदी को सीएमओ गौतमबुद्ध नगर के समस्त अधिकार देते हुए जिम्मेदारी तय की गई है।

बता दें कि नोएडा में कोरोना वायरस के लगातार बढ़ते मामलों को लेकर बीते सोमवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ग्रेटर नोएडा पहुंचे थे। जहां उन्होंने नोएडा समेत यूपी के कई जनपदों में कोरोना वायरस का संक्रमण फैलाने वाली कंपनी के खिलाफ कार्रवाई नहीं किए जाने को लेकर कड़ी नाराजगी जताई थी। इतना ही नहीं बैठक में मुख्यमंत्री ने तत्कालीन डीएम बीएन सिंह व सीएमओ डॉ॰ अनुराग भार्गव को काफी हड़काया था। जिसके बाद बीएन सिंह ने देर शाम को प्रमुख सचिव को चिटठी भेजकर तीन माह का अवकाश मांगा था और नोएडा में काम कर पाने में अस्मर्थताप्रकट की थी। जिसके बाद देर शाम को ही शासन से तत्कालीन डीएम के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उन्हें हटा दिया गया था। जिसके बाद सुहास एलवाई को नोएडा का डीएम बनाया गया था। इसी बीच बुधवार को एक बार फिर नोएडा में कोरोना संक्रमण के 10 मामले सामने आने पर मुख्यमंत्री का गुस्सा आसमान पर पहुंच गया। जिसके चलते बुधवार शाम शासन से हुए आदेशों के अनुसार जिले के सीएमओ डॉ॰ अनुराग भार्गव से उनके सभी वित्तीय अधिकार छीन लिए गए हैं।