ALL Old New
चीनी वस्तुओं के आयात से संबंधित लाइसेंस निरस्त करे मोदी सरकार: डॉ आनंद कुमार
June 29, 2020 • सुरेश चौरसिया

 **    चीनी वस्तुओं के आयात से संबंधित सभी लाइसेंस निरस्त करे मोदी सरकार - डा. आनंद कुमार

नई दिल्ली। राष्ट्र निर्माण पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव डा. आनंद कुमार, पूर्व स्पेशल डायरेक्टर, गृह विभाग ने आज यहां कनॉट प्लेस में लद्दाख क्षेत्र में एल.ए.सी. पर चीनी सेना के साथ मुठभेड़ में वीरगति को प्राप्त हुए 20 भारतीय सैनिकों के सम्मान में आयोजित श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया जिसमे उन्होंने शी जिनपिंग की फोटो जलाकर विरोध किया, इस अवसर पर उन्होंने मोदी सरकार से मांग की कि चीनी वस्तुओं के आयात से संबंधित जिन कंपनियों को लाइसेंस दिए गए हैं, वे निरस्त किए जाए, जिससे कि भारत के नागरिकों द्वारा चलाए जा रहे चीनी वस्तुओं के बहिष्कार का आंदोलन सफल हो सके।

राष्ट्र निर्माण पार्टी पिछले कई वर्षों से हर संकट की घड़ी में आम जनता की आवाज़ को उठाती आ रही है, इस बार भी उन्होंने चीन के इस प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष युद्ध में करारा जवाब देने की मांग की है, चीनी सामान का बहिष्कार हमारे सैनिकों को सच्ची श्रद्धांजलि देगा।

आनंद कुमार ने कहा की मुझे आश्चर्य है की कांग्रेस पार्टी को राजीव गांधी फाउंडेशन चीनी दूतावास या चीन सरकार से पैसे लेने की क्या आवश्यकता थी। राष्ट्र निर्माण पार्टी की ओर से उन्होंने मांग की कि भारत की जनता जानना चाहती है कि और कौन से लोग और पार्टियां हैं, जो चीन सरकार या चीनी दूतावास के पैसे पर पल रहे हैं। इसकी जांच की जाए और जांच के निष्कर्ष आम जनता के सामने रखे जाएं जिससे कि आम जनता जान सके कि कौन देश के साथ है और कौन चीन के साथ खड़ा है।

उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी चेताया कि चीन के राष्ट्रपति सी. जिनपिंग के साथ मित्रता के नाम पर इस देश के हितों का बलिदान न करें। यह समय है भारत को आत्मनिर्भर बनाने का, भारत के स्वाभिमान एवं गौरव को पुनः स्थापित करने का। यह तभी संभव होगा जबकि हम चीन के विरूद्ध विजय प्राप्त कर सकें। वह विजय हमें तभी प्राप्त होगी जबकि सीमा पर भारतीय सेना को हरसंभव सहयोग मिले तथा चीनियों को सबक सिखाने के लिए पूरी स्वतंत्रता हो। देश के भीतर चीनी लोगों एवं चीनी सामान का पूर्णतः बहिष्कार हो तथा अंतरराष्ट्रीय मंचों पर चीन को पूरी तरह अलग-थलग कर दिया जाए। बहुत से आर्थिक विशेषज्ञों द्वारा यह संदेह व्यक्त किया जा रहा है कि इस प्रकार के बहिष्कार से देश को आर्थिक नुकसान होगा। अतः उससे बचा जाए। उन्हें मैं कहना चाहता हूं कि अपने देश के व्यापारियों को आगे बढ़ाएं। उन्हें सहयोग दें। हम दूसरे देश की कंपनियों व व्यापारियों का तो स्वागत करते हैं और अपने देश के व्यापारियों के पीछे सीबीआई, बिजिलेंस, ईडी, पुलिस, इनकम टैक्स, पता नहीं क्या-क्या लगा रखा है। सारी पार्टियां, संगठन, गली के मवाली सभी तो इन पर पल रहे हैं, पर जब समय आता है तो हम सब व्यापारियों को बेईमान बता देते हैं।

मैं अपनी सरकारों को कहना चाहता हूं कि अपने व्यापारियों पर भरोसा करना सीखो। फिर देखो, देश में रोजगार भी होगा, सारी चीजें यहीं पर बनेंगी और भारत आत्मनिर्भर होगा। इन वीर सैनिकों के प्रति श्रद्धांजलि कार्यक्रम तथा चीनी सामान के बहिष्कार के आयोजन में कैप्टन अशोक गुलाटी, राष्ट्र निर्माण पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव डा. आनंद कुमार, राष्ट्रीय सचिव मनोज गुलाटी, दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष एस.एन. गुप्ता एवं महासचिव राधाकांत शास्त्री, संगठन मंत्री दानवीर विद्यालंकार एवं पार्टी के अनेकों गणमान्य सदस्य उपस्थित रहे।