ALL Old New
भारत में लगेगा 10 लाख स्मार्ट मीटर : आर के सिंह
February 25, 2020 • सुरेश चौरसिया

नई दिल्ली।  केंद्रीय विद्युत, नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा राज्य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार)  श्री आर.के. सिंह ने भारत सरकार के स्मार्ट मीटर नेशनल प्रोग्राम के तहत पूरे भारत में 10 लाख स्मार्ट मीटर लगाने की घोषणा की। उत्तर प्रदेश, दिल्ली, हरियाणा और बिहार में पहले से ही काम कर रहे इन स्मार्ट मीटरों का उद्देश्य बिजली वितरण प्रणाली में दक्षता लाना है, जिससे सेवाओं को बेहतर बनाया जा सके। इस कार्यक्रम को ऊर्जा दक्षता सेवा लिमिटेड (ईईएसएल) के माध्यम से कार्यान्वित किया जा रहा है।

  ऊर्जा दक्षता सेवा लिमिटेड (ईईएसएल) भारत सरकार के ऊर्जा मंत्रालय के तहत सार्वजनिक उपक्रमों का एक संयुक्त उद्यम है, जिसे सरकार द्वारा ऊर्जा दक्षता परियोजनाओं की सुविधा और ऊर्जा सेवा कंपनी के रूप में काम करने के लिए स्थापित किया गया है।

      ईईएसएल के 10 साल पूरे होने के अवसर पर आयोजित समारोह में श्री सिंह ने कृषि फीडरों से जुड़े 100 मेगावाट क्षमता वाले विकेन्द्रीकृत सौर ऊर्जा संयंत्रों को चालू करने की घोषणा की। इन सौर ऊर्जा संयंत्रों की क्षमता प्रत्येक सबस्टेशन में 0.5 मेगावाट से लेकर 10 मेगावाट तक होती है।

      विद्युत मंत्री ने इस अवसर पर स्मार्ट मीटर नेशनल प्रोग्राम, नेशनल इलेक्ट्रिक मोबिलिटी प्रोग्राम और सौर पहल कार्यक्रमों के डैशबोर्ड का भी शुभारंभ किया। इसके माध्‍यम से कार्यक्रमों की प्रगति और इसके प्रभाव की पारदर्शी तरीके से निगरानी की जा सकती है। श्री सिंह ने इसके साथ ही एक एकीकृत मोबाइल एप्लिकेशन - ईके ईईएसएल- का भी शुभारंभ किया। इस पर ईईएसएल के सभी कार्यक्रमों के सभी डैशबोर्ड सुलभ होंगे। राष्ट्रीय इलेक्ट्रिक मोबिलिटी कार्यक्रम के संदर्भ में, उन्‍होंने कहा कि ईईएसएल द्वारा शुरू किए गए इलेक्ट्रिक वाहन अब तक 2 करोड़ किलोमीटर चल चुके हैं।

      उन्‍होंने ईईएसएल को परिवर्तन का अग्रदूत बताते हुए कहा कि इसने लगभग 12 महीनों में 10.6 मिलियन स्ट्रीट लाइटों को बदल दिया है। इसके माध्‍यम से 36 करोड़ एलईडी बल्ब वितरित किए गए और 80 करोड़ विभिन्‍न व्यापार माध्यमों से बेचे गए जिससे 80 मीट्रिक टन कार्बनडाईऑक्‍साइड के बराबर उत्सर्जन में कमी आई है। श्री सिंह ने कहा कि ईईएसएल ने सभी के लिए किफायती एलईडी बल्ब और स्ट्रीट लाइटों की उपलब्‍धता के जरिए सरकार के उजाला ओर उन्‍नत ज्‍योति कार्यक्रम का कुशल नेतृत्‍व किया है।

इस अवसर पर ईईएसएल और थाईलैंड सरकार के प्रोविंशियल एनर्जी अर्थोरिटी के बीच थाइलैंड के छोटे और मध्‍यम दर्जे के उद्योगों में ऊर्जा दक्षता उपायों के कार्यान्वयन के लिए दीर्घकालिक सहयोग के लिए एक समझौता ज्ञापन पर हस्‍ताक्षर किए गए।

      ऊर्जा दक्षता की संभावनाओं के दोहन के लिए 2009 में स्थापित,  ईईएसएल की ऊर्जा दक्षता पहल ने 58 बिलियन किलोवॉट से अधिक की ऊर्जा बचत की है और दुनिया भर में ग्रीनहाउस गैसों के उत्सर्जन में 46 मिलियन टन से अधिक की कमी की है।

      पिछले एक दशक से ईईएसएल अर्थव्यवस्था के विभिन्न क्षेत्रों में ऊर्जा दक्षता को बढ़ावा देने के लिए सरकारी एजेंसियों, विनिर्माताओं, नवप्रवर्तकों, बहुपक्षीय एजेंसियों, शिक्षाविदों, अनुसंधान एवं विकास संगठनों, सेवा एजेंसियों आदि जैसे विभिन्न हितधारकों और भागीदारों के साथ बड़े पैमाने पर सहयोग कर रही हैं।

      कार्यक्रम में ऊर्जा मंत्रालय के सचिव श्री संजीव नंदन सहाय, विभिन्‍न मंत्रालयों और राज्‍य सरकारों के वरिष्‍ठ अधिकारी, उद्योग जगत के प्रतिनिधि तथा कई गणमान्‍य लोग उपस्थित थे।   (pib)