ALL Old New
अलका के विवादित बोल से सियासी पारा गर्म, एफआईआर दर्ज
May 25, 2020 • सुरेश चौरसिया

नई दिल्ली। विज्ञान ने काफी तरक्की कर ली है। कुछ दिन पहले सागरिका ने JNU में वीर्य देखकर बता दिया था कि ये किसी संघी का है और आज कांग्रेस नेता अलका लांबा घर बैठे लोगो को मर्दानगी का सर्टिफिकेट, दे रही है कि कौन नपुंसक है और कौन मर्द.

दरअसल बहुचर्चित रेपकांड मामले में दिल्ली के तिहाड़ जेल में सजा काट रहे पूर्व विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की बेटी ने कांग्रेस नेता अल्का लाम्बा के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया है. कांग्रेस नेता ने अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए पीएम व गृहमंत्री के इशारे पर कुलदीप सिंह सेंगर को कोर्ट से जमानत दिलाने का आरोप लगाया था, जिसका समर्थन एक अन्य कांग्रेस नेता धरना पटेल ने भी किया था. इसके बाद पूर्व विधायक की बेटी ने ट्वीट को राजनैतिक षडयंत्र बताते हुए पलटवार किया.

उनका कहना है कि जब कोर्ट में जमानत की अर्जी ही नहीं दी गई तो जमानत कैसे मंजूर होगी? सेंगर की बेटी ने उन्नाव के एसपी से मुलाकात कर अल्का लाम्बा के ट्विटर को आधार बनाकर सदर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया है.

क्या है पूरा मामला? 

सज़ायाफ्ता पूर्व विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को दिल्ली की कांग्रेस नेत्री अल्का लांबा व धरना पटेल के ट्विटर अकाउंट से 23 मई को पीएम व गृह मंत्री, भाजपा सांसद साच्छी महराज के इशारे पर कोर्ट से जमानत मिलने का कमेंट ट्वीट किया गया था. इस पर राजनैतिक गलियारों में बहस चली थी. आखिर कुछ घंटे बाद क्लियर हो गया था कि कुलदीप सिंह सेंगर की जमानत नहीं हुई है.

कुलदीप की बेटी व समर्थकों ने रिट्वीट कर अल्का लाम्बा की जानकारी पर सवाल भी खड़े किए. रविवार की शाम कुलदीप सिंह सेंगर की बेटी ऐश्वर्या सेंगर परिजनों के साथ एसपी (उन्नाव) के कैम्प कार्यालय पहुंचीं और उन्‍हें दिल्ली की कांग्रेस नेत्री अल्का लांबा व धारना पटेल के ट्वीट को फेक बताते हुए परिवार के खिलाफ अभद्र टिप्पणी के साथ ही भ्रामक जानकारी की शिकायत की. वहीं, एसपी के आदेश पर आईटी एक्ट के तहत सदर कोतवाली उन्नाव में अल्का लाम्बा के ट्विटर अकाउंट को आधार बनाते हुए मुकदमा दर्ज किया गया है. एसपी विक्रन्त्वीर ने बताया कि शिकायत के आधार पर अल्का लाम्बा व धरना पटेल के खिलाफ सदर कोतवाली को मुकदमा दर्ज करने के निर्देश दिए गए हैं, और विधिक कार्रवाई की जा रही है