ALL Old New
5 महीने की कड़ी मेहनत से बोल उठा है नोएडा
March 10, 2020 • सुरेश चौरसिया

नोएडा। प्राधिकरण की टीमों ने 5 महीने की मशक्कत के बाद शहर को ओडीएफ प्लस प्लस की श्रेणी में ला खड़ा किया है। प्राधिकरण के लिए यह सर्टिफिकेट अर्बन मिनिस्ट्री ने जारी कर दिया है। इस सर्टिफिकेट के मिलने से स्वच्छता सर्वेक्षण में नोएडा के टॉप रैंक में आने के आसार भी बढ़ गए हैं।

बहरहाल,  नोएडा को यह सर्टिफिकेट जरूर मिल गया है, पर अभी इस दिशा में अभी कठिन परीक्षा बाकी है। खुद नोएडा प्राधिकरण सीईओ रितु महेश्वरी स्वीकार करती हैं कि अभी नोइडा मेंं करीब 200- 250 कम्युनिटी टॉइलट की जरूरत हैं।

अभी तक नोएडा पूरी तरह से शौचमुक्त नहीं हुआ है।आज भी बड़ी संख्या में लोग खुले में शौच जा रहे हैं।  इसके लिए पूरी रफ्तार से काम हो तो ही लक्ष्य प्राप्त किया जा सकता है।

वैसे, इस लाईन में नोएडा ही शामिल नहीं है, बल्कि  देश में मिनिस्ट्री ने 481 (यूएलबी)अर्बन लोकल बॉडी (अथॉरिटी, नगर निगम, नगर पालिका व अन्य) को अब तक ओडीएफ प्लस प्लस का तमगा दिया है। इनमें से 18 यूपी  के शहर हैं। इनमें नोएडा के अलावा गाजियाबाद, अलीगढ़, मोदीनगर, झांसी, सहारनपुर, देहरादून, लखनऊ, कन्नौज, कानपुर, आगरा, मथुरा, वाराणसी व अन्य शहर शामिल हैं।

फिलवक्त, नोएडा में 4 माह में अभूतपूर्व काम हुआ है। इसका श्रेय यदि रितु महेश्वरी को जाता है, तो प्राधिकरण के जांबाज अधिकारियों को भी जाता है। कुछ अपवादों को दरकिनार कर दिया जाय तो नोएडा में रात्रि का चकाचौंध वर्ल्ड स्तर का नजर आता है। आप उपरोक्त फोटो को देखें, जिसमें हवाई जहाज से और सड़क पर खींचा तस्वीर है।